Cyclopean Wall : विश्व की सबसे प्राचीन दीवार बिहार के राजगीर में,, The Great Wall Of Bihar के बारे मे जानें-

cyclopean wall meaning: राजगीर बिहार एक ऐसा पर्यटन स्थल बन गया है जहा पर आपको एक साथ कई सारे रमणीय, पर्यटन स्थल तथा एतिहासिक स्थल देखने को मिल जाती हैं. अगर आप पूरा राजगीर अच्छा से देखना चाहते हैं तो उसके लिए आपको लंबी छुट्टी पर आना होगा। आज हम आपको इस लेख में (Rajgir me ghumne ki jagah) राजगीर में स्थित दुनियां की दूसरी सबसे बड़ी दीवाल के बारे में बताने जा रहे हैं जिसे साइक्लोपियन वॉल के नाम के अलावा The Great Wall of Bihar के नाम से भी जानते हैं ।

Cyclopean Wall : विश्व की सबसे प्राचीन दीवार बिहार के राजगीर में,, The Great Wall Of Bihar के बारे मे जानें-
cyclopean wall of rajgir photos

मगध साम्राज्य का यह सुरक्षा कवच ‘साइक्लोपियन वॉल’ के cyclopean wall in bihar नाम से जाना जाता है। यह दीवार इतनी पुरानी है कि अब इसे विश्व धरोहर सूची में शामिल करने की मुहि।चीन की दीवार को तो पूरी दुनिया जानती है लेकिन क्या आप जानते हैं कि दुनिया की सबसे प्राचीन दीवार cyclopean concrete wall कहां है? यदि नहीं तो जान लीजिए कि ये दीवार भारत के बिहार राज्य में नालंदा के राजगीर की पहाड़ियों पर स्थित है जिसे हम “the great wall of bharat ” कह सकते हैं।

इसके अलावा आपको आज इस लेख में राजगीर के टॉप 7 पर्यतन स्थल के बारे में भी जानकारी साझा करेंगे। तो आइए जानते हैं अब विस्तार से –

साइक्लोपियन वॉल क्या है cyclopean wall of rajgir

साइक्लोपियन वॉल क्या है cyclopean wall of rajgir
cyclopean wall images Image created by -canva

cyclopean wall in hindi: ‘साइक्लोपियन वॉल’ के नाम से जाना जाता है। यह दीवार इतनी पुरानी है कि अब इसे विश्व धरोहर सूची में शामिल करने की मुहिम मुख्यमंत्री नीतीश कुमार शुरू कर चुके है।

राजगीर में स्थित शायक्लोपिएन दीवार cyclopean wall bihar मूल रूप से चार मीटर ऊंची है और 40 किलोमीटर लंबी दीवार है, राजगीर शहर के चारो ओर पत्थर के ब्लॉक से बना है। नालंदा और नवादा जिले की सीमा से सटे राजगीर स्थित वनगंगा के दोनों ओर के पर्वतों पर कई किलोमीटर ऊपर तक गए ये अवशेष हैं।

यह दीवार वनगंगा के पश्चिमी ओर के सोनागिरी और पूर्वी क्षेत्र के उदयगिरी पर्वत श्रृखलाओं के उपर तक फैला हुआ है।एक साथ लगे हुए बड़े पैमाने पर अवांछित पत्थरों से निर्मित, यह cyclopean sage wall in montana दीवार प्राचीन काल के ग्रीक दीवारों के साथ थोड़ा बहुत अपनी समानता के लिए लोकप्रिय है।

राजगीर के  सबसे पुरानी दीवार का इतिहास:-

cyclopean wall built by: बिहार के नालंदा जिले के राजगीर की पहाड़ियों पर बनाया गया यह दीवार अपने आप में खास है। साइक्‍लोपियन दीवार राजगीर की राजधानी शहर की किलावन्दी के लिए थी। यह मिसीनियन वास्तुकला के समान विशाल चूने के पत्थर से निर्मित पत्थर की दीवार का एक प्रकार है। इस दीवार के निर्माण के बारे में कहा जाता है कि जरासंध ने इसका निर्माण राजधानी को सुरक्षित करने के लिए करवाया था।cyclopean sage wall in montana

यह cyclopean wall लगभग 2500(500BC) साल पहले मुख्य रूप से बाहरी आक्रमणकारियों और दुश्मनों से अपनी राजधानी की रक्षा के उद्देश्य से मगध साम्राज्य के सम्राट बिम्बिसार के द्वारा बनाया गया था।मगध सम्राज्य में राजगृह एक संपन्न नगरी हुआ करती थी।इसलिए ऐसे में बाहरी आक्रमणकारियों का डर हमेशा बना रहता था। ऐसे में नगर की सुरक्षा के लिए ऐसी दीवार की जरूरत महसूस की गई होगी।

पाली के ग्रन्थ इतिहास में भी राजगीर की दीवार का इतिहास::

पाली ग्रंथों में भी इस ऐतिहासिक दीवार का प्रमुखता से जिक्र मिलता है।जिसमें इस दीवार के जरिए राजगृह की चाक चौबंद सुरक्षा cyclopean wall of rajgir built by की बात लिखी गई है।पाली ग्रंथों के अनुसार किलाबन्द शहर में प्रवेश करने के लिए 32 बड़े द्वार और 64 छोटे थे। यही नहीं हर पांच गज पर सैनिकों की तैनाती होती थी।दीवार को मजबूत करने के लिए अंतराल पर गढ़ बनाए गए थे।where is the great wall of india.

दीवार का बाहरी हिस्सा बड़े पत्थरों का बना था। इसके बीच भाग में छोटे पत्थर डाले गए थे।रत्नागिरी पहाड़ी के साथ चल रही इस प्राचीन विशाल दीवार का काफी हिस्सा अभी भी वहां है,जो पहाड़ी के आधार से ढाल की ओर शुरू होता है।bihar the heart of india

वर्तमान स्थिति:;-cyclopean wall rajgir

bihar the heart of india: आज, इसके अधिकांश हिस्से बर्बाद हो गया है और इसका अवशेष खंडहर के रूप में में मौजूद है। अब भारत का पुरातात्विक सर्वेक्षण इसके रखरखाव करता है।cyclopean sage wall जैसा कि हम सब यह जानते हैं कि राजगीर प्राचीन काल से ही मगध राज्य अपनी विशाल समृद्धि और शक्ति तथा खुबसुंदर आकर्षक स्थानों के लिए जाना जाता था। जो कि समय के साथ खत्म हो गई। about the bihar of cyclopean wall

हालाकि अभि भी बिहार का राजगीर एक आकर्षक पर्यटन स्थल का केंद्र बना हुआ हैं जहा पर आपको विश्व शांति स्तूप, बौद्ध धर्म, जैन धर्म के तीर्थ स्थल साथ ही हिंदू धर्म की आस्था का केंद्र है जिसके खूबसूरत वादियों में पहाड़ों पर घने जंगल, सुंदर प्राकृतिक गुफाएं, सुंदर पार्क, चिड़ियाघर और आपकों प्राचीनकाल के शिलालेख दिखने को मिल सकता है।

1. नेचर सफारी राजगीर (Nature Safari Rajgir)

राजगीर पर्यटन स्थल प्राकृतिक सौंदर्य से परिपूर्ण स्थल है। जहा के नेचर सफारी में आपकों पल भर के लिए ही सही विदेशों जैसा शानदार अनुभव प्रदान कर सकता हैं।  जहा पर आपको पूर्वोत्तर भारत का पहला ग्लास ब्रिज  यानि (Glass bridge) स्काईवॉक ब्रिज पर घूमने का आनंद ले सकते हैं यह ब्रिज आपको पूर्ण रूप से शीशे से निर्मित ब्रिज़ है, जिसे चीन में निर्मित 120 मीटर ऊंचाई ग्लास ब्रिज के तर्ज पर ही बनाया गया है। cyclopean stone wall

स्काईवॉक ब्रिज पर एक साथ में 20 लोग आसानी से जा सकते है, स्काईवॉक ब्रिज का मजा लेने के लिए आपको नेचर सफारी के टिकट के साथ ग्लास ब्रिज़ का (glass bridge Rajgir ticket price) अलग से टिकट लेना होगा।

2. राजगीर कुंड (Rajgir Kund)

यह एक गर्म hot water spring पानी का कुंड है. इस कुंड में हर वर्ष मकर सक्रांति जनवरी माह के आम लोग  स्नान करने के लिए दूर दूर से श्रद्धालुओं का तांता लग रहता है, इस राजगीर कुंड में आपको गर्म पानी के कुल 22 कुंड तथा 52 धाराएं हैं। और उन सभी का नाम आप को अलग-अलग ऋषि-मुनियों तथा अलग अलग नदियों के नाम पर रखा है।

विश्व शांति स्तूप (Vishwa Shanti Stupa)

1. विश्व शांति स्तूप (Vishwa Shanti Stupa

राजगीर विश्व शांति स्तूप को बौद्ध धर्म के लोग जापानी स्तूप भी कहते है. यह राजगीर विश्व शांति स्तूप सफेद रंग का पहाड़ों पर स्थित एक विशाल स्तूप है. आपकों बता दें कि इस विश्व शांति स्तूप के अंदर एक छोटा सा जापानी बौद्ध मंदिर भी है. और इसके अंदर एक बड़ा पार्क भी मौजूद है.

 राजगीर की 5 पहाड़ियों:

ये सभी पांच पहाड़ को स्वर्णगिरि ,रत्नागिरी विपुलगिरि, उदयगिरि और वैभारगिरि से घिरा है. राजगीर की यह पहाड़ देश विदेश के पर्यटकों बीच में काफी प्रसिद्ध है. जो कि राजगीर के पांच अलग अलग  चट्टानी पहाड़ियों से घिरा है. जिसका जिक्र महाभारत और रामायण में भी है.cyclopean wall

राजगीर पर्यटन स्थल घूमने के लिए बिहार के सबसे खूबसूरत जगह, में से एक है जहा राजगीर पर्यटन स्थल, और राजगीर भगवान बुद्ध तथा भगवान महावीर के कई तीर्थ स्थल के लिए प्रसिद्ध है.

वाइल्डलाइफ सफारी (Wild Safari, Rajgir)-

bihar the heart of india: राजगीर का वाइल्डलाइफ सफारी बिहार ही नही बल्कि देश की काफी खूबसूरत स्थान में से एक है. यह टूरिस्ट गण को अपनी ओर आ कर्षित करता है अगर आप कभी भी राजगीर जाएं। cyclopean wall तो इस जगह पर एक बार जरूर घूमने  के लिए जाएं. यह एक पौराणिक खूब सुंदर शानदार टूरिस्ट डेस्टिनेशन है. यदि आप वन्य जीव तथा पक्षियों से प्रेम करने वाले लोग इस स्थान पर जरूर आते है।

महाबोधि मंदिर (Mahabodhi Temple)-

माहाबोधि मंदिर भगवान बुद्ध को समर्पित मंदिर है जिसे यूनेस्को के द्वारा विश्व धरोहर स्थल घोषित किया हुआ है बोधगया में यह स्थित एक प्राचीन, बौद्ध मंदिर है, और यही वह स्थान है जहां भगवन बुद्ध को ज्ञान प्राप्त हुआ. यह मंदिर आपको महाबोधि वृक्ष के समीप में ही में स्थित है. इस मंदिर का तहखाना करीब 48 वर्ग फुट में है तथा  इस मंदिर की कुल ऊंचाई आपकों 170 फीट तक है  यह  इस मंदिर को देखने के लिए देश विदेश से लाखो टूरिस्ट दूर-दूर से आते रहते हैं.cyclopean wall kefalonia

और भी पढ़े:

Leave a Comment