Majuli Island in Hindi: विश्व की सबसे बड़े नदी द्वीप “माजुली द्वीप” घूमे जानें की पूरी जानकारी –

Majuli Island tourism in Hindi 2024 : क्या आप भारतीए आइलैंड पर घुमाना चाहते हैं तो आपको माजुली द्वीप एक बार जरूर जाना चाहिए. यह द्विप दुनिया का सबसे बड़ा नदी द्वीप है जो पूर्वी भारत राज्य असम के ब्रह्मपुत्र नदी पर स्थित है. यह आइलैंड प्राक्रतिक रूप से बहुत ही खुबसूरत आइलैंड है हालाकी आपको ये जानकर आश्चर्य होगा कि नदी में द्वीप कैसे हो सकता है. लेकिन यह सत्य है. यह द्विप अपनी अपार खूबसूरती और मनमोहक दृश्य तथा संस्कृति से दुनिया भर के पर्यटकों को अपनी ओर आकर्षित करता है।

Majuli Island in Hindi: विश्व की सबसे बड़े नदी द्वीप “माजुली द्वीप” घूमे जानें की पूरी जानकारी –
image Credit By-Canva

माजुली द्वीप करीब 1250 वर्ग किमी के क्षेत्र में फैला हैं जो कि जोरहाट शहर से 20 किमी तथा गुवाहाटी शहर से 347 किमी की दुरी पर स्थित है. ऐसा कहा जाता हैं कि इस आइलैंड को आदिवासियों द्वारा बसाया गया था और उसकी झलक तथा संस्कृति आज भी देखने को मिल जाती है, और यही कारण है कि सैलानी के बिच ये स्थान काफ़ी लोकप्रिय है. साल 2016 में माजुली द्वीप को पूरे विश्व के सबसे बड़े नदी द्वीप के रूप में घोषित किया गया है. और तब से यह द्वीप और ज्यादा प्रसिद्ध हो गया है।

अगर आप भी वीकेंड में majuli island assam tourism घूमने जाने वाले है और उसके लिए प्लान कर रहे है, तो उससे पहले आपकों हमारा यह लेख पूरा जरूर पढ़ लेना चाहिए। जिस वजह से आपकी माजुली द्वीप की सैर majuli island details आसान हो जायेगा –

Table of Contents

माजुली द्वीप में घूमने की जगहें – majuli island famous for in Hindi

यह एक खुबसुन्दर आइलैंड है जो अपने अन्दर कई सारे  आकर्षक पर्यटन स्थलों को अपने अंदर समेटे हुए है जो देखते ही मन मंत्रमुग्ध हो जाता है और यही कारण है कि यहाँ आने वाले सारे पर्यटकों के लिए ये आकर्षण के केंद्र बना रहता है। तो आइये जानते है माजुली द्वीप में करने के लिए चीजें और घूमने की जगहें के बारे में –

कमलाबाड़ी सातरा, माजुली – Kamalabari Satra, Majuli

कमलाबाड़ी सातरा, माजुली – Kamalabari Satra, Majuli
Image Credit By -Canva

majuli island aerial view माजुली आइलैंड के सबसे मुख्य पर्यटक स्थलों में से एक कमलाबाड़ी सातरा द्वीप है और यहां पर्यटकों को अपनी यात्रा के दौरान एक बार जरूर घुमाना चाहिए। इस जगह पर आपको कई धार्मिक स्थल , कला, संस्कृति, साहित्य तथा भिन्न भिन्न शास्त्रीय अध्ययन से जुड़ी हुई कई सारी लेख देखने को मिल जाती हैं, और वह लेख यह बताते है की कमलाबाड़ी सातरा की स्थापना बेदुलपद्मा अता ने किया था. आपको बता दे कि हर साल यहाँ कोइ न कोइ सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन होता रहता है जिसमे देश विदेश के हजारों पर्यटक गण भी शामिल होते है।

दखिनपाट सात्रा, माजुली – Dakhinpat Satra, Majuli

माजुली द्वीप में घूमने लायक जगहें में से एक दखिनपाट सात्रा स्थान भी है. जो प्राचीन काल में अहोम शासक के द्वारा संरक्षित क्षत्रप हिस्सा था.अहोम शासक ने क्षत्रप के राज्य में भिन्न भिन्न संस्कृति क्षेत्र में कई अलग अलग महान विभूतियों का निर्माण भी किया है. और इन सभी  वजह से यह जगह देश विदेश से यहाँ आने वाले पर्यटकों, तथा जो लोग इतिहास प्रेमि हैं उन लोगों के लिए ये जगह आकर्षण का केंद् है। is majuli an island

असम का सबसे बड़ा त्यौहार में से एक रसोत्सव, यहाँ बहुत ही धूम धाम और बड़े ही उत्साह के साथ मनाया जाता है और उस जश्न को देखने के लिए भारत भर से के   पर्यटक वहा जाते है. आपको बता यह दे इस त्यौहार के मुख्य आकर्षण केन्द्र पूर्णिमा की रात होने वाल रासलीला का होता है। जो बहुत ही सुंदर लगता है अतः आप भी अपने फ्रेंड्स या फैमली के साथ एक बार माजुली द्वीप की यात्रा करना ना भूलें।majuli island brahmaputra information

गरमुर माजुली – Garmur, Majuli 

गरमुर माजुली – Garmur, Majuli 
Image Credit By -Canva

गरमुर सतरा माजुली आइलैंड के शाही क्षत्रपों में से एक माना जाता है. और यह आदिवासी समाज के लिए पवित्र स्थल है इसकी स्थापना साल 1656 ईस्वी में जयहरिदेव जी किया था। यह एक ऐतिहासिक क्षत्रप है जिसका नाम वातावरण बहुत ही पवित्र माना जाता है और इस पवित्र स्थान पर हर साल हजारों पर्यटक दर्शन के लिए जाते हैं।

आपको यह जानकारी दे दे कि माजुली के इस स्थान को वैष्णव स्थल माना जाता हैं जहा पर कई सारे प्राचीन लेख तथा प्राचिन कलाकृतियां मौजुद हैं, वैसे लोग जोकि  धार्मिक विश्वासों में रिसर्च या गहन जानकारी प्राप्त करने चाहते हैं तो यह स्थान उनके लिए उपयुक्त हैं इस पवित्र तीर्थस्थल पर हर साल कई सारी सांस्कृतिक कार्यक्रम के आयोजन किये जाते रहते है और यही चीज माजुली द्वीप में घूमने के लिए सबसे अच्छी जगहें में से एक बनाते है।

तेंगपनिया माजुली – Tengapania, Majuli

यदि आप माजुली द्वीप पर घूमने फिरने के दौरान अपने दोस्तों संग पिकनिक मानना चाहते हैं तो उसके लिए आपको द्विप पर स्थित तेंगपनिया जाना चाहिए। यह आइलैंड एक बेहद ही शानदार स्थल तथा पिकनिक स्पॉट माना जाता है. यह आइलैंड ढाकुखाना, मच्छो तथा दिसंगमुख से घिरी हुई हैं जो इस द्विप की खुबसूरती को बढ़ाता है और यही कारण है कि यह पर्यटकों के लिए आकर्षण का केंद्र है। information about majuli island

माजुली आईलैंड के पर्यटक स्थल की रोमांचक यात्रा की  बाद आप इस खूबसूरत पिकनिक स्थल तेंगपनिया पर अपनी फैमली अथवा दोस्तों संग रात भी बीता सकते हैं तथा उस दौरान तेंगापानिया के पास बहने वाली नदी की  प्राकृतिक सुन्दरता के बीच में आप सब टाइम स्पेंड भी कर सकते है. आपकों बता दें कि इस खुबसूरत जगह का अन्य स्थल का आकर्षण एक स्वर्ण मंदिर जैसा ही है जो  अहोम शैली को दर्शाती है।majuli island climate

औनाती सात्र माजुली – Auniati Satra, Majuli

औनाती सात्र माजुली – Auniati Satra, Majuli
Image Credit By -Canva

आप सभी ने अप्सरा और पलनाम प्रसिद्ध नृत्य, औनाती सात्र के बारे में कभी न कभी सूना या पढ़ा जरुर होगा। ये सभी चीज एक साथ एक जगह आपकों माजुली द्वीप में देखने को मिल जायेगा. औनाती सात्र घूमने की जगहें में से एक सुंदर जगह है. जिसकी स्थापना सर्वप्रथम एक अहोम शासक सुल्तानला ने साल 1653 ई में किया था. आपकों बता दूं कि इस क्षत्रप में भगवान् श्रीकृष्ण जी की पूजा की जाती है majuli island culture

जिन्हें वहा के कल्चर में गोविंदा के नाम से जानते है। इस मूर्ति को मूल रूप से उड़ीसा के जगन्नाथ पुरी से लाई गई थी तथा औनाती सात्र में लाकर स्थापित की गई थी इन सभी के अतिरिक्त आपको यहां पर पारंपरिक असमिया बर्तन, सोने की आभूषण तथा हस्तशिल्प का एक संग्रह भी देखने को मिल जायेगा।

माजुली द्वीप में सैलानी क्या कर सकते है – 

जभी हम कही भी घूमने जाते है तो सबसे पहले यह जान  लिया करते है की हम जिस जगह पर घूमने के लिए जा रहे हैं तो वहा हम घूमने फिरने के अलावा क्या कर सकते है ठीक उसी प्रकार से माजुली द्वीप घूमने जाने से पहले आप यह जान लेना चाहती है कि माजुली द्वीप में कौन कौन सी क्या एक्टिविटीज कर सकते है तो आइए जानते है।

नौका विहार – history of majuli island

नौका विहार – history of majuli island
Image Credit By -Canva

असम राज्य में स्थित माजुली द्वीप एक बेहद ही सुन्दर, रोमांचक और खूबसूरत द्वीप है जो प्राकृतिक रुप से और निखर जाता हैं। इस द्वीप पर सैलानी नौका विहार जैसे गतिविधि को कर सकते हैं जो कि बेहद ही आकर्षक गतिविधि है. यदि आप अपने कपल या फिर गर्ल फ्रेंड या दोस्त के साथ वहाँ घूमने गए हैं तो आपको नौका विहार मै सैर करना चाहिए। यह एक यादगार पल सबित हों सकता है।

वर्ड वाचिंग – birds at majuli island in Hindi

यदि आप भिन्न भिन्न प्राकार के बर्ड्स लवर है तो आपकों उसका आनंद लेने के लिए माजुली द्वीप वर्ड वाचिंग पर  जरूर जाना चाहिए. यह आइलैंड पक्षियों के लिए स्वर्ग के समान है जहाँ सैकड़ों प्रकार की पक्षियों को देखा जा सकता है. इस आईलैंड की शुष्क वातावरण के कारण यहां देशी विदेश के विभिन्न प्रकार पक्षिय की प्रजातियों को देख सकते है।

माजुली आईलैंड में करने लायक एक्टिविटीज – majuli island facts

माजुली आईलैंड में यात्रा के दौरान आप यहां के फेमस कोमल शाऊल चावल का स्वाद जरुर चखिए। जो बेहद ही स्वादिष्ट चावल होती हैं. वैसे तो यहां कई किस्म की चावल की खेती होती हैं लेकिन कोमल शाऊल उन सभी मे अच्छा है. इनके अलावा आप यहां के सुंदर मिट्टी के बर्तनों तथा हथकरघा आइटम को जरुर खरीदें।

माजुली द्वीप घूमने जाने का सबसे अच्छा समय – majuli island best time to visit

यदि आप माजुली द्वीप घूमने का प्लान बना रहे हैं तो आपको बता दें कि उसके लिए अक्टूबर से लेकर अप्रैल माह तक यानी सर्दियों का मौसम ही बेस्ट टाइम होता है। क्यों कि इस समय प्रवासी पक्षियों को देखने का अवसर मिल जाती है साथ ही भीषण गर्मी से भी राहत मिलती है इसके अलावा आप चाहे तो मानसून के समय भी घूमने के लिए जा सकतें हैं।majuli island things to do

माजुली द्वीप द्वीप में कहाँ ठहरें  – Hotel in Majuli Island

माजुली द्वीप असम राज्य का एक प्रमुख पर्यटक स्थल है और इस वजह से यहाँ पर्यटक साल भर आते रहते हैं तो उनके रुकने best resort in majuli island ठहरने के लिए भी यहां सभी प्राकार के  बजट की होटल्स उपलब्ध है. जो निचे दिए गए हैं –

  • ला मैसन डी आनंद – La maison de Ananda
  • रिवर साइड कॉटेज – River side bamboo cottages
  • सुबनसिरी होम – Subansiri Homes
  • ज्योति माजुली होमस्टे – Jyoti Majuli Homestay

माजुली द्वीप तक कैसे पहुँचें?  – Majuli Island kaise Jaye

यदि आप माजुली द्वीप ट्रिप प्लान कर रहे है तो आपको बता दे कि माजुली एक नदी द्वीप है, जहा डायरेक्ट ट्रेन, बस या फ्लाइट से नहीं जा सकतें है। उसके लिए आपको  नजदीकी शहर जोरहाट पहुचना होगा, और फिर वहा से  बोट या नाव द्वारा माजुली आइलैंड जा सकते है।guwahati to majuli island distance

फ्लाइट से माजुली द्वीप कैसे जायें – majuli island nearest airport

यदि आपने माजुली द्वीप फ्लाइट से जाना चाहते हैं तो उसके लिए आपको माजुली द्वीप के निकटतम एयरपोर्ट जोरहाट हवाई अड्डा पहुंचना होगा और फिर वहा से 22 किमी की दुरी तय कर नाव या बोट से माजुली द्वीप जा सकते है।

ट्रेन से माजुली द्वीप कैसे जायें – majuli island nearest railway station

वही आप माजुली द्वीप जानें के लिए रेल को चूना है तो उसके लिए आपको निकटतम रेलवे स्टेशन जोरहाट में है, वहा पहुंचना होगा और फिर वहा से 20 किमी की दूरी तय कर आप माजुली द्वीप जा सकते है।

Majuli Island Explore FAQ:-

माजुली द्वीप क्या है?

माजुली द्वीप एक नदी द्विप है।

माजुली द्वीप किस नदी पर स्थित है?

ब्रह्मपुत्र नदी असम में।

माजुली द्वीप कहाँ है?

असम के जोरहाट शहर से 20 किमी दूर स्थित है majuli island।

गुवाहाटी से माजुली द्वीप कैसे पहुँचें?

गुवाहाटी से माजुली द्वीप बस या ट्रेन से फिर बोट से जा सकते हैं।

काजीरंगा से माजुली द्वीप कैसे पहुँचें?

काजीरंगा से माजुली द्वीप ऑटो या बस से फिर नाव के जरिए जा सकतें हैं।

क्या माजुली वास्तव में एक द्वीप है?

जी हां ।

जोरहाट से माजुली द्वीप कैसे पहुँचें?

बोट या नाव के जरिए।

माजुली द्वीप कैसे बना?

ऊपर लेख में विस्तार से बताया गया है।

भारत में माजुली द्वीप कहाँ स्थित है?

भारतके असम राज्य के जोरहाट जिले में।

क्या माजुली द्वीप देखने लायक है?

जी हां बिलकुल।

माजुली द्वीप किस लिए प्रसिद्ध है?

majuli island अपनी अपार खूबसूरती और मनमोहक दृश्य तथा संस्कृति से दुनिया भर के पर्यटकों को अपनी ओर आकर्षित करने के लिए फेमस है।

निष्कर्ष: –

आज का यह लेख facts about majuli island India आपको कैसा लगा. यदि आपको हमारी यह स्टोरी stay at majuli island पंसद आया हों और इस लेख से जुड़े हुआ आपके कोई भी सवाल हैं, तो आप हमें इस लेख में आर्टिकल के निचे दिए गए कमेंट बॉक्स में डिटेल में बताएं। हम आप को उससे जुड़ी हुई सही जानकारी पहुंचाने का पूरी प्रयास करेगें.

साथ ही आप इस majuli the largest river island in the world को अपने रिश्तेदार दोस्त आदि को शेयर जरूर करें। और ऐसी ही अन्य टूरिज्म से जुडी हुई स्टोरी पढ़ने के लिए आप हमे लगातार जुड़े रहें।

ये भी पढ़ें:

Leave a Comment