Neem Karauli Baba Dham: 2024 में कैंची धाम के नीम करौली बाबा आश्रम जानें की सम्पूर्ण जानकारी-

Neem Karauli Baba Dham Information In Hindi 2024 : यदि आप अपने जीवन में बहुत सारी कठिनाइयों बीमारी आदि का सामना कर रहे हैं और आपको सफलता प्राप्त नहीं हो रहा है और इसके लिए आप किसी शांत वातारण वाली जगह आश्रम की तलाश कर रहे हैं प्रकृति की गोद में जाकर भक्ति में लीन होना चाहते हैं तो आपको एक बार कैंची धाम के नीम करोली बाबा आश्रम जरूर जाना चाहिए। baba neem karoli ke bare mein bataen

Neem Karauli Baba Dham: 2024 में कैंची धाम के नीम करौली बाबा आश्रम जानें की सम्पूर्ण जानकारी-
Image Credit By -Canva

उत्तराखंड राज्य के हिमालय की तलहटी में बसा हुआ है एक छोटा सा आश्रम है जिसे देश विदेश में नीम करोली बाबा आश्रम के नाम से जानते हैं इस आश्रम के परिसर में भगवान हनुमान जी का मंदिर है और नीम करौली बाबा जी एक मंदिर है तथा चारों ओर साफ सुथरे कमरों में हरियाली के साथ, आश्रम हैं जो एक शांत और एकांत विश्राम के लिए एकदम सही स्थान है।

नीम करोली बाबा आश्रम उतराखंड राज्य के नैनीताल – अल्मोड़ा मार्ग पर स्थित दुनियां का एक विचित्र आश्रम है  जो तीर्थ यात्रियों के बीच में कैंची धाम आश्रम के रूप में प्रसिद्ध है। यह स्थान समुद्र तल से लगभग 1400 मीटर की ऊँचाई पर हैं, इस आश्रम को हनुमान भक्त श्री नीम करोली बाबा जी को समर्पित तीर्थस्थल है. हिंदू गुरु के रूप में पूजनीय है नीम करौली बाबा जी। और मान्यता है –

कि बाबा नीम करौली जी अपने जीवन काल में कई सारे चमत्कार Neem Karauli Baba chamatkar किये। तो आइए अब विस्तार से श्री नीम करोली बाबा आश्रम तीर्थ स्थल neem karoli baba ashram kainchi dham reviews के बारे में जानें –

Table of Contents

कौन थे बाबा नीम करोली जी :Neem Karauli Baba biography in hindi

कौन थे बाबा नीम करोली जी :Neem Karauli Baba biography in hindi
Image Credit By -Canva

baba neem karoli kaun hai: करोली बाबा जी की गणना १९वी शताब्दी के सबसे महान और चमत्कारी संतों में की जाती है। ऊनका जन्म उत्तर प्रदेश राज्य के ग्राम अकबरपुर जिला फ़िरोज़ाबाद में Neem Karauli Baba born year हुआ था। जो कैंची आश्रम, नैनीताल से 7 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। एसा कहा जाता हैं कि बाबा नीब करौरी जी ने इस आश्रम की स्थापना साल 1964 में की थी। जब बाबा नीब करौरी जी साल 1961 में पहली बार इस पवित्र स्थान पर आए और उन्होंने अपने पुराने मित्र श्री पूर्णानंद जी के साथ मिल कर इस आश्रम को बनाने का विचार किया था।

इस तीर्थ स्थल को तीर्थ यात्री कैंची मंदिर,श्रीनीम करौली धाम और श्री नीम करौली आश्रम आदि नाम से जानते हैं इस अद्भुत मंदिर को बाबा नीम करौली महाराज जी ने ही ६० के दशक में बनवाया था, जो कि चमत्कारी बाबा आश्रम के नाम से भी दुनियां में प्रसिद्ध है। आपकों बता दें कि नीम करोली बाबा जी उत्तराखंड के अलावा विदेशों में भी काफ़ी प्रसिद्ध हैं।और नैनीताल के अलावा आपको वृंदावन और अमेरिका में भी इनका आश्रम है।

कैंची धाम आश्रम का इतिहास: Neem Karauli Baba history

neem karoli baba history in hindi : कैंची धाम में उत्तराखंड में स्थित कैंची आश्रम में पहले मंदिर का उद्घाटन वर्ष जून 1964 में हुआ था। और शेष मंदिर का निर्माण नीम करौली बाबा जी भौतिक शरीर छोड़ देने के बाद हुआ।

बाबाजी Neem Karauli Baba died मृत्यु 10 सितंबर 1973 की रात को वृंदावन में हुआ था और वहीं उनकी समाधि स्थल भी है तथा गुरु जी के राख वाला कलश को श्री कैंची धाम में स्थापित की गई थी, फिर, साल 1974 में बाबा के मंदिर का निर्माण कार्य शुरू किया गया जो 15 जून 1976, महाराजजी की मूर्ति की प्राण-प्रतिष्ठा के साथ सम्पन्न हुई।

15 जून को होता है बड़ा महोत्सव

कैंची धाम आश्रम मंदिर में प्रतिवर्ष 15 जून को वार्षिक उत्सव मानाया जाता है। और तब यहां पर देश विदेश से बाबा के भक्तों की हजारों की संख्या में विशाल भीड़ लगी रहती है. Neem Karauli Baba experience आधुनिक युग के भारतीय दिव्य पुरुषों में से एक हैं.

नीम करोली बाबा जी के बारे में एसा कहा जाता है कि उन्हे 17 वर्ष की अल्प आयु से ही भगवान हनुमान जी दर्शण हुए और परमज्ञान की प्राप्ति हुई थी. भगवान श्री बजरंग बली उनके गुरु थे। श्री नीम करौली बाबा जी अपने पूरे जीवन में देश भर में 108 हनुमान मंदिर बनवाए थे।

होती हैं इच्छाएं सारी पूर्ण : Neem Karauli Baba chamatkar

Neem Karauli Baba celebrity visit
Image Credit By -Canva

ऐसा मान्यता है कि जो भी भक्त परम इच्छा भाव से श्री नीम करौली आश्रम में दर्शन के लिए जाता है, तो उसकी सभी मनोकामनाएं नीम करौली बाबा जी पूरी करते हैं। और यहीं कारण है कि विदेशों से भी हजारों करोड़ पति अरबपति लोग बाबा जी दर्शन के लिए आते रहते हैं और  आम लोग के साथ साथ दुनियां भर के कई अरबपति भी बाबा के भक्तों में शामिल हो चुके हैं।

Neem Karauli Baba celebrity visit: जिसमे आपको हॉलीवुड अभिनेत्री जूलिया राबर्ट्स, एप्पल के neem karoli baba and steve jobs तथा फेसबुक के वर्तमान मालिक और संस्थापक मार्क जुकरबर्ग जैसी हस्तियां भी बाबा की भक्त हैं साथ ही इस आश्रम में दर्शन के लिए कई बार आ चुके हैं।

Neem Karauli Baba hanuman mandir

is neem karoli baba incarnation of hanuman: नीम करोली बाबा आश्रम एक ऐसा स्थान पर स्थित है जो कि शांत और एकांत वातावरण की आदर्श छवि के रूप को प्रदर्शित करता है,यह स्थान हिमालय के तलहटी में काफ़ी दूर तक फैला हुआ है, और इसके चारों ओर से हरियाली है निचे बहती हुईं नदी हैं.

कैंची धाम में स्थित इस आश्रम में भक्त रह भी सकते हैं, और उस दौरान आप हनुमान चालीसा का पाठ कर सकते हैं .और उस पल को शब्दों में बयां करना मुश्किल है. इसके अलावा आप आश्रम में सुबह और शाम के आरती में भाग ले सकते हैं।

नीम करोली बाबा का स्थान कहाँ हैं।

Neem Karauli Baba ashram list बाबा नीम करौली जी आश्रम नैनीताल-अल्मोड़ा रोड पर काठगोदाम रेलवे स्टेशन से 40 किमी. और भवाली से 9 किमी. तथा  प्रसिद्ध हिल स्टेशन नैनीताल से करीब 17 किमी. की दूर पर स्थित है।

कैसे जाएं नीम करौली बाबा आश्रम

श्री बाबा नीम करौली जी आश्रम नैनीताल-अल्मोड़ा रोड पर काठगोदाम रेलवे स्टेशन से 40 किमी. और भवाली से 9 किमी. नैनीताल से करीब 17 किलोमीटर दूर स्थित है। जहा पर आप बस रेल मार्ग अथवा हवाई मार्ग से भी जा सकते हैं।

यदि आप रेल मार्ग से जाना चाहते हैं तो उसके लिए आपको उत्तराखंड के कुमाऊं में स्थित काठगोदाम रेलवे स्टेशन पहुंचना होगा और वहा से दो घंटे की दुरी तय कर आप सरकारी बस अथवा टैक्सी बुक कर कैंची धाम जा सकते है।

कैंची धाम कब जाना चाहिए?

बाबा नीम करौली जी के कैंची धाम आश्रम वैसे तो आप कभी भी जा सकते हैं लेकिन सबसे अच्छा समय फरवरी महीना से जून महीने और फिर सितम्बर अक्टूबर महीने में जा सकते हैं।15 जून को ख़ासकर जाना चाहिए क्यों कि उस दिन वहा उत्सव मनाया जाता हैं।

नीम करौली बाबा आश्रम में ठहरे कहा –

कैंची आश्रम में ठहरने के लिए एक धर्मशाला स्थित है, जिसमे ठहरने के लिए आपको कैंची आश्रम आने से पूर्व ही चिट्ठी लिखनी होती हैं और उनकी अनुमति मिलने पर आप रुक सकते हैं. आम तौर पर इस धरमशाला में तीर्थ यात्रियों को अधिकतम तीन दिन तक ही रुकने की इजाजत दी जाती है। Neem Karauli Baba ashram address

लेकिन धरमशाला में जगह नहीं मिलने पर कैंची धाम में स्थित बिभिन्न गेस्ट हाउस या होटल में रुक सकते हैं जो इस प्रकार है –
१ अमर वैली रिज़ॉर्ट
2) गुरु कृपा गेस्टहाउस

कैंची धाम आश्रम से संबंधित प्रश्न:-

नीम करोली बाबा क्यों प्रसिद्ध है?

why is neem karoli baba famous
नीम करौली बाबा अपने चमत्कार और भगवान हनुमान जी के परम भक्त होने के साथ एक सनातन संत होने के लिए प्रसिद्ध हैं।

नीम करोली बाबा की शिक्षाएं क्या हैं?

भगवान हनुमान जी का आराधना और राम नाम का जाप neem karoli baba guru mantra थे।

स्टीव जॉब्स कैंची धाम कब आए थे?neem karoli baba steve jobs story

neem karoli baba steve jobs in hindiस्टीव जॉब्स बाबा नीम करौली जी के सबसे बड़े भक्तों में से एक थे एसा कहा जाता हैं कि स्टीव जॉब्स वर्ष 1974 में कैंची धाम गुरु देव नीम करोली से मिलने पहुंचे थे।

नीम करोली बाबा की मौत कब हुई थी?

neem karoli baba death date जी का देहांत 11 सितंबर 1973

नीम करोली बाबा किसकी पूजा करते थे?

बाबा नीम करौली जी भगवान हनुमान जी की पुजा करते थे।

नीम करोली बाबा को क्या चढ़ाया जाता है?

नीम करोली बाबा को तो वैसे कोइ फल मेवा नहीं चढ़ाया जाता हैं लेकीन आपको यदि चढ़ाना है तो आप कंबल चढ़ा सकते हैं।

नीम करोली बाबा जीवित हैं क्या?

neem karoli baba jivan parichay में हमने बताया है कि वे अब जीवित नहीं है।

क्या नीम करोली बाबा हनुमान भक्त थे।

Yes , is neem karoli baba hanuman

क्या नीम करोली बाबा शादी किए थे।

जी हां नीम करोली बाबा जी शादी किए हुऐ थे।

नीम करौली बाबा कहा है।

नीम करौली बाबा जी का देहांत हो चुका है और वे अब इस दुनिया में नही है उनके मंदिर हैं।

नीम करौली बाबा का मंदिर कहा है।

नीम करौली बाबा का मंदिर देश विदेश में कई जगह पर हैं लेकिन दो सबसे अहम मंदिर में से एक उतराखांड के
नैनीताल-अल्मोड़ा रोड पर हैं और दूसरा वृन्दावन में है।

निष्कर्ष:-

आपको यदि जीवन में कोई तकलीफ हैं तो एक बार आप इस Neem Karauli Baba आश्रम में जाकर बाबा जी दर्शण जरूर कर लेना चाहिए। आपको यह लेख कैसा लगा यदि अच्छा लगा हैं तो आप इसे शेयर जरूर करें। और इस प्रकार की अन्य लेख पढ़ने के लिए आप हमारे ब्लॉग से जुड़ी रहें।

और भी पढे;

Leave a Comment